इस हफ्ते हो सकता है, मसूद अजहर ग्लोबल टेररिस्ट घोषित, बड़ी कूटनीतिक जीत मोदी सरकार की हो सकती है |This week, Masud Azhar may be declared as Global Terrorist, big diplomatic victory could be Modi government

0
5

इस हफ्ते हो सकता है, मसूद अजहर ग्लोबल टेररिस्ट घोषित, बड़ी कूटनीतिक जीत मोदी सरकार की हो सकती है |This week, Masud Azhar may be declared as Global Terrorist, big diplomatic victory could be Modi government

मसूद अजहर पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) का प्रमुख  जो एक मई को वैश्विक आतंकवादी (ग्लोबल टेररिस्ट) घोषित हो सकता है।

THE BBM NEWS

इस मामले से जुड़े लोगों का कहना है, कि चीन एक मई को संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने को लेकर अपना रवैया बना चुका है।

अगर अजहर मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कर दिया  है तो यह नरेंद्र मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत होगी। क्योंकि 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए दुनिया भर के देशों का समर्थन भारत सरकार को मिला था।

THE BBM NEWS

एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया कि अगर मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया जा रहा है| तो यह मौत की चेतावनी होगी।

पुलवामा हमले के बाद यूएन में अमेरिका, फ्रांस और यूके के नेतृत्व में मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट करने की मांगा किया था,  लेकिन चीन ने उसका बचाव किया था।

 उन्होंने बताया कि अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा 13 मार्च को रखे गए प्रस्ताव पर चीन के तकनीकी पकड़ हटने की उम्मीद है। वहीं अन्य सभी सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने इस कदम को मंजूरी दिया है।

आपको बता दें कि चीन ने बीते 17 अप्रैल को इन खबरों को खारिज किया था, कि अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्म्द के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर संयुक्त राष्ट्र में लगाई गई तकनीकी रोक को हटाने के लिए 23 अप्रैल तक की समय सीमा दिया है। चीन ने दावा किया कि यह एक पेचिदा मामला है और यह हल होने की दिशा में बढ़ रहा है।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 अल कायदा प्रतिबंध कमेटी में फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए नया प्रस्ताव लेकर आए है। बहरहाल, चीन ने प्रस्ताव पर ‘तकनीकी रोक’ लगा दिया है। इसके बाद, अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के समर्थन से सीधे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अजहर को कालीसूची में डालने के लिए प्रस्ताव दिया है

मित्रों और अधिक जाने हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

ट्विटर को फॉलो क

 बीबीएम न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here