श्रावस्ती लोकसभा क्षेत्र में जनता को बहुत बड़ा नुकसान होगा गठबंधन से ।प्रत्याशी: हनुमान प्रसाद मिश्रा ।

0
9

श्रावस्ती लोकसभा क्षेत्र में जनता को बहुत बड़ा नुकसान होगा गठबंधन से ।प्रत्याशी: हनुमान प्रसाद मिश्रा ।In the Shravasti Lok Sabha constituency, there will be huge losses to the people from the alliance.The candidate: Hanuman Prasad Mishra

श्रावस्ती लोकसभा क्षेत्र में कैंसर की सौगात देगा गठबंधन प्रत्याशी: हनुमान प्रसाद मिश्रा।।

The bbm news
बलरामपुर। श्रावस्ती लोकसभा क्षेत्र से किसान मजदूर संघर्ष पार्टी प्रत्याशी हनुमान प्रसाद मिश्रा अपने क्षेत्र का तूफानी दौरा करते हुए राजनीति कर दिया है।।

वहीं कटरा, गिलौला, तुलसीपुर, गैसड़ी, में कई जगह तूफानी दौरा करते हुए उन्होंने कहा कि किसान मजदूर संघर्ष पार्टी किसान तथा युवाओं की पार्टी है ।।

जिसमें गरीब किसानों का हित सुरक्षित है, वहीं गठबंधन पार्टी के प्रत्याशी के ऊपर हमला बोलते हुए कहा कि गठबंधन का प्रत्याशी अपनी गुटखा फैक्ट्री का जाल श्रावस्ती में बिछाने के लिए संकल्प पत्र तैयार कर चुका रहा है ।।

जिससे युवाओं को विकास नहीं कैंसर की सौगात मिलेगी वहीं श्रावस्ती की जनता बाहरी प्रत्याशियों पर विश्वास करना छोड़ दिया हैं ।।

जिसे अब लोगों में किसान मजदूर संघर्ष पार्टी के प्रत्याशी को जिताने के लिए लोगों ने अपना मन बना लिया हैं ।।

वहीं लोगों से अपील करते हुए पार्टी के पक्ष में वोट देने की अपील की ।।

इस मौके पर स्वामीनाथ मौर्य, सीताराम ,अनिल पाठक, संजय सिंह, प्रवीण कुमार ,राकेश कुमार, सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित रहे,

हाथी को नहीं मिलेगा चारा बाहरी प्रत्यशी को बलरामपुर के जनता ने नकारा ।।

ये बलरामपुर की पब्लिक है सब जानती है बाबू
—————————————-–——————
बलरामपुर। श्रावस्ती लोकसभा गठबंधन पार्टी के बसपा प्रत्याशी राम शिरोमणि वर्मा अन्य पार्टियों से लोकसभा क्षेत्र में पिछड़ते दिख रहे हैं ।।

बलरामपुर जनपद के सवर्णो का कहना है, कि इस गठबंधन के प्रत्याशी द्वारा बलरामपुर के मतदाताओं को गुमराह किया जा रहा है ।।

कि मैं भारी मतों से जीत रहा हूं, जबकि हकीकत यह है, की बसपा पार्टी के प्रतिष्ठित नेता भी इनके साथ जनसंपर्क में नहीं दिखाई पड़ रहे हैं ।।

हाथी को नहीं मिलेगा चारा बाहरी प्रत्यशी को बलरामपुर जनता ने नकारा

ये बलरामपुर की पब्लिक है सब जानती है बाबू
—————————————-
बलरामपुर। श्रावस्ती लोकसभा गठबंधन पार्टी के बसपा प्रत्याशी राम शिरोमणि वर्मा अन्य पार्टियों से लोकसभा क्षेत्र में पिछड़ते नजर आ रहे हैं।।

बलरामपुर जनपद के सवर्णो का कहना है कि इस गठबंधन के प्रत्याशी द्वारा बलरामपुर के मतदाताओं को गुमराह किया जा रहा है कि मैं भारी मतों से जीत रहा हूं जबकि हकीकत यह है ।।

की बसपा पार्टी के प्रतिष्ठित नेता भी इनके साथ जनसंपर्क में नहीं दिखाई पड़ रहे हैं इनके साथ ज्यादातर उनके गृह जनपद अंबेडकर नगर के निवासी ही जनसंपर्क कर रहे हैंजिनको लोकसभा के मतदाता पहचानते तक नहीं, लोकसभा का मतदाता सोच रहा है ।।

गठबंधन की कैसे होगी नैया पार लगता है नैय्या डूब जाएगी मझधार तो मतदाता क्यों करे अपना मत बेकार, लोकसभा श्रावस्ती ब्राह्मण बहुल क्षेत्र है।।

जन चर्चा है कि गठबंधन का बसपा प्रत्याशी चुनाव समीकरण से बाहर नजर आ रहा है मतदाता जान रहा है कि जीतने वाली पार्टी कौन है इसलिए चुप चाप होकर राजनीतिक पार्टियों के छला वे भरे वादों आश्वासनों का मूक दर्शक बनकर तमाशा देख रहा है।।

मतदाता जानता है गठबंधन टिकाऊ नहीं है क्योंकि जो पूर्व में सपा पार्टी द्वारा बसपा सुप्रीमो के साथ हुए हरकत को श्रावस्ती लोकसभा के मतदाता अभी तक भुला नहीं पाए हैं जन चर्चा है किक्षेत्र में गठबंधन के दूसरी पार्टी के लोग भी किनारा करते दिखाई पड़ रहे हैं।।

क्योंकि गठबंधन दूसरे पार्टी के नेता लोकसभा प्रत्याशी के लिए लाखों रुपए प्रचार-प्रसार श्रावस्ती लोकसभा में कर चुके हैं गठबंधन के कारण उनका टिकट उनके संसदीय सीट बसपा के खाते में चली गई जिससे आज तक वह स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं।।

इनके साथ ज्यादातर उनके गृह जनपद अंबेडकर नगर के निवासी ही जनसंपर्क कर रहे हैं।।

जिनको लोकसभा के मतदाता पहचानते तक नहीं, लोकसभा का मतदाता सोच रहा है ।।

गठबंधन की कैसे होगी नैया पार लगता है नैय्या डूब जाएगी मझधार मैं ।।

तो मतदाता क्यों करे अपना मत बेकार, लोकसभा श्रावस्ती ब्राह्मण बहुल क्षेत्र है ।।

जन चर्चा है कि गठबंधन का बसपा प्रत्याशी चुनाव समीकरण से बाहर नजर आ रहा है।।

मतदाता जान रहा है कि जीतने वाली पार्टी कौन है इसलिए चुप चाप होकर राजनीतिक पार्टियों के छला वे भरे वादों आश्वासनों का मूक दर्शक बनकर तमाशा देख रहा है ।।

मतदाता जानता है गठबंधन टिकाऊ नहीं है क्योंकि यह तो बिकाऊ है, जो पूर्व में सपा पार्टी द्वारा बसपा सुप्रीमो के साथ हुए हरकत को।।

श्रावस्ती लोकसभा के मतदाता अभी तक भुला नहीं पाए हैं, जन चर्चा है कि क्षेत्र में गठबंधन के दूसरी पार्टी के लोग भी किनारा करते दिखाई पड़ रहे हैं ।।

क्योंकि गठबंधन दूसरे पार्टी के नेता लोकसभा प्रत्याशी के लिए लाखों रुपए प्रचार-प्रसार श्रावस्ती लोकसभा में कर चुके हैं ।।

गठबंधन के कारण उनका टिकट उनके संसदीय सीट बसपा के खाते में चली गई जिससे आज तक वह स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं।।

मित्रों और अधिक जाने हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

ट्विटर को फॉलो करें

अनिल शर्मा की रिपोर्ट द बीबीएम न्यूज़ के साथ

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here