फरवरी 2019 से कर रहे हैं महिला कर्मचारी का उत्पीड़न

0
13

फरवरी 2019 से कर रहे हैं महिला कर्मचारी का उत्पीड़न Persecution of female employees since February 2019

thebbmnews

नही थम रही पुर्वोत्तर रेलवे के अधिकारी देवानंद की दबंगई लखनऊ, पूर्वोत्तर रेलवे की वाणिज्य कार्यालय अधीक्षक और वर्तमान में जनसंपर्क अनुभाग में कार्यरत श्रीमती शिवानी कुकरेती पर होने वाले अन्याय थमने का नाम नही ले रहे हैं।

आपको बताते चलें कि 19 फरवरी 2019 को पूर्वोत्तर रेलवे के लखनऊ मण्डल वाणिज्य प्रबंधक देवानंद यादव ने शिवानी कुकरेती जी से अभद्रता पूर्वक व्यवहार किया था जिसकी शिकायत उन्होंने रेल मंडल अधिकारी से लिखित रूप से की थी लेकिन उसपर कोई कारवाई नही हुई।

लेकिन जब देवानंद को इस बात की भनक लगी तो अपने पद का लाभ उठाते हुए उन्होंने श्रीमती कुकरेती का तत्काल स्थानांतरण पीआरओ कार्यालय में कर दिया। श्रीमती कुकरेती महिला कर्मचारी कल्याण संगठन की सदस्य भी हैं जिसकी अध्यक्षा श्रीमती आरती श्रीवास्तव ने श्रीमती कुकरेती पर देवानंद द्वारा किये जा रहे बदले की भावना वाले करवाई की शिकायत महिला आयोग से लिखित रूप से किया था।

महिला आयोग के आदेशानुसार इस प्रकरण ही जांच की जिम्मेदारी हजरतगंज के क्षेत्राधिकारी को मिली थी जिसके क्रम में उन्होंने बयान देने के लिए श्रीमती कुकरेती को दिनांक 7.5.2019 को बुलाया था। पर जब देवानंद को इस बात का पता चला तो उन्होंने ने श्रीमती कुकरेती को यह धमकी दी कि अब तुम बच नही पाओगी। जब वे इसकी शिकायत करने दिनांक 9.5.2019 को फिर से क्षेत्राधिकारी कार्यालय हजरतगंज जा रही थीं तभी रास्ते मे सेंट्रल बैंक हजरतगंज के पास अज्ञात चार पहिये की गाड़ी ने उनकी स्कूटी को टक्कर मार दी जिससे उनके सिर, पैर, हाथ व सीने में अंदरूनी काफी चोटें आई और मौके पर ही वो बेहोश हो गईं।

बाद में उनके पति ने उन्हें सिविल अस्पताल ले गए जहां वे 3 दिन तक भर्ती रहीं। उसके बाद भी लगातार देवानंद, देवानंद के आदमी और पूर्वोत्तर रेलवे के पीआरओ आलोक श्रीवास्तव लगातार धमकी दे रहे हैं कि तुम देवानंद के विरुद्ध समस्त शिकायतें व हजरतगंज कोतवाली में दर्ज मुकदमे को तत्काल वापस ले लो नही तो बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।

इसी क्रम में श्रीमती कुकरेती ने 27.05.2019 को प्रेस क्लब लखनऊ में प्रेस वार्ता का आयोजन किया और उसमें अपने पूरी आपबीती बताई और ये भी बताया कि वे हर हद तक ऐसे दबंग अधिकारियों से लड़ती रहेंगी। जिसके बारे में उन्होंने माननीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को लिखित रूप से अवगत करा दिया है।

साथ ही साथ आपको यह भी बताते चले कि देवानंद पर ये कोई पहला आपराधिक मामला नही है। पूर्व में भी शिकायते की गई हैं कि देवानंद महिला व अन्य कर्मचारियों के साथ भी अभद्रतापूर्ण व्यवहार करते आए हैं।

श्री देवानंद ने शिवानी के खिलाफ अपना पक्ष मजबूत करने के लिए कुछ महिला कर्मचारियों व अन्य कर्मचारियों से पत्र भी लिखवाया जिसके संबंध में एक महिला कर्मचारी ने यह बयान भी दिया कि पत्र उससे दबाव में लिखवाया गया है।

मित्रों और अधिक जाने हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

ट्विटर को फॉलो करें

रिपोर्टर== अनिल शर्मा

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here