कोर्ट के नाम पर न हों गुमराह* आकाश त्रिपाठी उत्तर प्रदेश ग्राम रोजगार सेवक पंचायत मित्र वेलफेयर एसोसिएशन

0
43

कोर्ट के नाम पर न हों गुमराह* आकाश त्रिपाठी उत्तर प्रदेश ग्राम रोजगार सेवक पंचायत मित्र वेलफेयर एसोसिएशन Do not be misled in the name of court * Akash Tripathi Uttar Pradesh Gram Rojgar Sewak Panchayat Mitra Welfare Association

👉  *पूरा लेख अवश्य पढ़ें*
✍ *3 साल में बाहर निकालने की व्यवस्था के विरोध में उच्च न्यायालय के आदेश के सम्बंध में *
        *कोर्ट के नाम पर न हों गुमराह*

प्रदेश भर के ग्राम रोजगार सेवक साथियों को अवगत कराना है कि जनपद ललितपुर के अपने साथी दरियाव सिंह ने 2010 में हाईकोर्ट में रिट दाखिल करी थी। जो मुख्य रिट याचिका स्पेसल अपील संख्या 642,655/2010 में कनेक्ट हो गई।
सभी फाइलों में 2011 में स्टेटस को का (यथास्थिति बनाये रखने)आर्डर होते हुए केस को लिस्टेड कर दिया गया ।
माननीय उच्च न्यायालय लखनऊ ने सप्लीमेंट्री के रूप में 23/3/2019 को कोर्ट नम्बर 2 में 3 नम्बर पर सुनवाई के लिए लगा दिया, सभी कनेक्टेड रिटों पर एक साथ सुनवाई होनी थी और एक ही आदेश सबमें होना था लेकिन कनेक्ट रिटों में से सिर्फ एक ही याचिकाकर्ता के वकील साहब कोर्ट रूम में उपस्थित रहे l

बहस के दौरान माननीय न्यायालय ने 3 साल में बाहर किये जाने वाली व्यवस्था पर सरकार से जवाब मांग लिया और यह भी कहा कि यदि जवाब नही मिलता है तो यह मान लिया जाएगा कि सरकार रोजगार सेवकों को बाहर नहीं निकालना चाहती य उसको इस विषय पर कुछ नही कहना और याचिकाकर्ता यानी जितने भी रिट पिटिसनर्स हैं सभी को 3 साल वाले बंधन से मुक्त कर दिया जाएगा।।


*3 साल वाले बंधन से मुक्त होने का विकल्प—-*
अब आप सभी को घबड़ाने की जरूरत नहीं है और न ही किसी को चंदा देंने की क्योंकि जैसा कि कुछ लोग सरकार और सांसद जी के निकट होने का दावा करते रहे हैं और हाल ही में सम्मेलन भी कराया है तो सिर्फ वो लोग रोजगार सेवकों के पक्ष में सरकार से जवाब लगवाकर भेज दें आप स्वतः ही केस जीत जाएंगे और कोर्ट आपको बाहर नहीं करेगा,और यदि सरकार आपका बुरा ही चाहेगी तो आप कितना भी रुपया चंदे के रूप में दे लो आप सफल नही होंगे है।
इसलिए चंदे का धंधा बन्द कराया जाए और निष्कर्ष प्राप्त करने के लिए सरकार य तो हाईकोर्ट में जवाब न दाखिल करे अथवा यदि जवाब दाखिल भी करती है तो आपके पक्ष में करे।
*सरकार के करीबी लोग अब अपने पक्ष में काउंटर लगवाएं,किसी को न तो घबड़ाने की जरूरत है और न ही चंदा देने की।*

*कृपया इस पोस्ट को सभी ग्रुप तक शेयर अवश्य करें,जिससे लोग भयमुक्त हो सकें*

भयभीत न हों सरकार केवल आपके पक्ष में काउंटर लगाए कि वह आपको बाहर नहीं करना चाहती।हमें लगता है ये काम उन लोगों को करना चाहिए जिन्होंने सम्मेलन कराया।
आपका
*आकाश त्रिपाठी*

अविनाश श्रीवास्तव

The bbm news 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here