योगी राज में पुलिस के उत्पीड़न का शिकार भाजापा का सदस्य।द्वेष भावना से घटना की सूचना देने पर थाने ला कर मारपीट और वसूली का लगाया पीड़ित ने आरोप ।।

0
17

योगी राज में पुलिस के उत्पीड़न का शिकार भाजापा का सदस्य।द्वेष भावना से घटना की सूचना देने पर थाने ला कर मारपीट और वसूली का लगाया पीड़ित ने आरोप ।।A member of the BJP, a victim of police harassment in Yogi Raj. The victim accused of assault and extortion by bringing the police station on reporting the incident with special sentiment.

प्रदीप कुमार मिश्रा ब्लॉक रिपोर्टर तुलसीपुर द बीबीएम न्यूज़

तुलसीपुर/बलरामपूर
जनपद बलरामपुर के थाना महाराजगंज तराई में दिखा पुलिस का भ्रष्ट और अमर्यादित रूप ।घटना 16 अक्टूबर 2019 के3 बजे की है जब दो पक्षों में किसी कारण झगड़ा हो रहा था तभी पीड़ित अबू बकर निवासी जयनगरा कौवापुर किसी कार्य से बाजार जा रहा था जो कि प्रार्थी टीम मोदी सपोर्टर का ब्लाक अध्यक्ष एवं भाजपा पार्टी का सदस्य भी है।झगड़े को देख कर मानवता वश उसने अपने मोबाइल से पुलिस को सूचना दी ।

मौके पर पुलिस के 2 सिपाही जमशेद और उग्रसेन ने पहुच कर सूचना कर्ता को पूरी जानकारी हेतु थाने ले गए ।उसके बाद दिखा पुलिस का विकृत और असभ्य रूप।जब अबू बकर थाने पहुचे तो थाना महराजगंज तराई के एस आई श्री राम यादव ने पीड़ित के साथ असभ्यता का परिचय देते हुए जातिसूचक गालियां देने लगे जिसका प्रार्थी के विरोध करने पर उक्त एस आई ने प्रार्थी को जूतों व हाथों से जी भर कर मारा और रात भर थाने में,, बिठाए रखा ।

और छोड़ने के लिये जमशेद ने पीड़ित से 10000 की मांग की ।और अगर नही दिया तो संगीन धाराओं में जेल भेजने की बात की जिससे प्रार्थी भयभीत हो गया और अपने साले से पैसे का व्यवस्था करने की सूचना दिया किसी तरह से 6000 हजार की व्यवस्था कर उसके साले ने जमशेद को दी फिर भी 151 में चालान कर दिया गया।पीड़ित ने बताया कि जमशेद ने रुपियो के लेनदेन की बात के लिये धमकी दी है कि अगर कही भी तुम ने शिकायत की या किसी को बताया तो हाथ पैर तोड़ कर जेल भेज दिया जाय गा।

क्या यही है योगी राज में अपराध मुक्त पुलिस की छवि जहां पुलिस को सूचना देने वाले सामाजिक व्यक्ति को ही मुजरिम बनाने का खेल खेला गया और अवैध बसूली कर हाथ पैर तोड़ने और संगीन धाराओं में जेल भेजने की धमकियां भी दी गयी ।कैसे हो पुलिस पर जनता का विश्वास जब द्वेष भावना में लीन महराजगंज तराई के पुलिस को घटना की सूचना देने पर पीड़ित को ही मुजरिम बनाने का खेल खेलने में व्यस्त है ।क्या यही है योगी राज में भय मुक्त यू पी की कल्पना जहां जबरन वसूली का खेल हो रहा है थानों में और न देने पर शरीफ व्यक्ति को अपराधी बनाने का खेल हो रहा हैं ।

पीड़ित को स्थानीय प्रशासन से न्याय न मिलने पर पुलिस महा निर्देशक से मिलकर लगाई न्याय की गुहार।।

प्रदीप कुमार मिश्रा ब्लॉक रिपोर्टर तुलसीपुर द बीबीएम न्यूज़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here