साइबराबाद पुलिस आयुक्त सीवी सज्जनार ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी। एनकाउंटर को लेकर उठ रहे सवालों के बीच पुलिस ने दावा किया कि आरोपियों ने भागने की कोशिश की और उन पर हमला भी किया

साइबराबाद पुलिस आयुक्त सीवी सज्जनार ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी। एनकाउंटर को लेकर उठ रहे सवालों के बीच पुलिस ने दावा किया कि आरोपियों ने भागने की कोशिश की और उन पर हमला भी किया

साइबराबाद पुलिस आयुक्त सीवी सज्जनार ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी। एनकाउंटर को लेकर उठ रहे सवालों के बीच पुलिस ने दावा किया कि आरोपियों ने भागने की कोशिश की और उन पर हमला भी कियाCyberabad Police Commissioner CV Sajjanar gave the information at a press conference on Friday. Amid questions about the encounter, the police claimed that the accused tried to run away and attacked them.

एनकाउंटर शुक्रवार सुबह 5.45 से 6.15 के बीच हुआ। आरोपियों को हथकड़ी नहीं पहनाई गई थी।
पीड़िता का मोबाइल, पावर बैंक और घड़ी तलाशने के लिए पुलिस आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई थी।
आरोपियों ने बताया कि उन्होंने पीड़िता का सामान घटनास्थल पर झाड़ियों में छिपा रखा है।
आरोपी मोहम्मद आरिफ और चिंताकुटा ने पुलिस से दो हथियार छीनकर भागने की कोशिश की।
मोहम्मद आरिफ ने पहले गोली चलाई। इसमें एक एसआई और कॉन्स्टेबल घायल हो गया। इनका इलाज चल रहा है।
बाकी आरोपियों ने भी भागने की कोशिश की और पुलिस पर लकड़ी व पत्थर से हमला किया।
आरोपियों ने जो हथियार छीने, वे लॉक नहीं थे। इस वजह से खतरा और बढ़ गया था।
पुलिस ने आरोपियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने नहीं सुनी।
इसके बाद पुलिस ने भी जवाब कार्रवाई करते हुए गोलियां चलाई, जिसमें आरोपी मारे गए।
आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में हुए इसी तरह के अपराध में इन आरोपियों का हाथ होने की आशंका के चलते पुलिस हथियार जुटा रही थी।

 

हैदराबाद कांड के चारों आरोपी पुलिस मुठभेड़ में ढेर, भागने की कोशिश में मारे गए

हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। तेलंगाना पुलिस के अनुसार आरोपियों को राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए ले जाया गया था। इस दौरान आरोपियों ने पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने उनपर गोलियां चला दीं। इस मुठभेड़ में चारों आरोपियों की मौके पर ही मौत हो गई।

शमशाबाद के डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने कहा, ‘सायबराबाद पुलिस आरोपियों को क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए लाई थी ताकि घटना से जुड़ी कड़ियों को जोड़ा जा सके। इसी बीच आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीने और उनपर फायरिंग की। आत्मरक्षा में पुलिस ने उन्हें गोली मारी जिसमें आरोपियों की मौत हो गई।

साइबराबाद पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनार ने कहा, ‘आरोपी मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशावुलू शादनगर के चटनपल्ली में पुलिस मुठभेड़ में आज सुबह मारे गए। सभी की मौत सुबह तीन बजे से छह बजे के बीच हुई। मैं घटनास्थल पर पहुंच गया हूं और जल्द ही आगे की जानकारी दी जाएगी।’

इन सभी आरोपियों को पुलिस रिमांड में रखा गया था। पुलिस चारों आरोपियों को उसी फ्लाईओवर के नीचे ले गई थी जहां उन्होंने पीड़िता को आग के हवाले किया था। यहां पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट किया जा रहा था। इसी दौरान धुंध का फायदा उठाते हुए उन्होंने भागने की कोशिश की। इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने गोलियां चलाईं जिसमें उनकी मौत हो गई। आरोपियों के पुलिस मुठभेड़ में ढेर होने की पुष्टि पुलिस आयुक्त ने की है।

पशु चिकित्सक के पिता ने पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर कहा, ‘मेरी बेटी की मौत को दस दिन हो चुके हैं। मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।’

वहीं, तेलंगाना के कानून मंत्री इंद्रकरण रेड्डी ने कहा कि भगवान ने इस मामले में इंसाफ किया है, जो हुआ ठीक हुआ। उन्होंने कहा कि चारों आरोपियों को घटनास्थल पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट के लिए ले जाया गया था, लेकिन इन्होंने पुलिस के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस कार्रवाई में सभी मारे गए।

निर्भया की मां ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि हैदराबाद पुलिस ने एनकाउंटर कर नजीर पेश की है। कम से कम अब हैदराबाद केस के पीड़ित परिवार को अब रोज-रोज आरोपियों का चेहरा तो नहीं देखना पड़ेगा। उन्होंने सरकार से ये भी अपील की है कि पुलिस के खिलाफ कोई कार्रवाई न करें उन्होंने बहुत अच्छा काम किया है। निर्भया के दोषियों को अब तक फांसी न मिलने की बात पर उन्होंने कहा कि अब यह सरकार पर सवाल उठता है कि आखिर कब निर्भया के दोषियों को फांसी मिलेगी।

मित्रों और अधिक जाने हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें
ट्विटर को फॉलो करे

अविनाश श्रीवास्तव चीफ संपादक बीबीएम न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *