पिछले सपा सरकार में रोजगार सेवकों के रूपये का इतना दोहन हुआ कि आज तक 12 सालों में कभी नहीं हुआ।

0
22

साथियों
पिछले सपा सरकार में रोजगार सेवकों के रूपये का इतना दोहन हुआ कि आज तक 12 सालों में कभी नहीं हुआ।In the last SP government, the employment of employment servants was so exploited that till date it has never happened in 12 years.

120 रु प्रति रोजगार सेवक खाते में चंदा मंगाया,उसके बाद प्रति ब्लॉक 5000 मंगाया,120₹ की टोपी बेची गई,, 2000₹ प्रति रोजगार सेवक नियमितीकरण के नाम पर व जो स्टेज पर लाखो रु0 नाच गाना करके हम लोगो ने ईनाम गिरा दिया वो कही जोडा ही नहीं गया। सरकार से मिलने के नाम पर 6000 ₹ मानदेय हुआ वो भी कमलेश गुप्ता जी व शाही जी के नेतृत्व में संघ वालो ने कराया कुछ लोग इसका गलत व्याख्यान करते हैं कि अखिलेश यादव जी ने कराया जबकि ये सरासर गलत है।

कुछ प्रश्नों को आप लोगो के बीच में रख रहा हूँ वेलफेयर के जिम्मेदार नेता जबाब दे।

1- रमाबाई मैदान धरना में जब मुख्य सचिव जी अखिलेश यादव जी को 9000₹ मानदेय पृथक बजट से दे रहे थे तो क्यों नहीं लिया।

2- नियमितीकरण, 19207₹ मानदेय व सहायक सचिव के पद लेने के चक्कर में सब कुछ गवा कर बैठ गए ऐसा क्यों।

3- अखिलेश यादव जी के मांगपत्र में कहीं 6000₹ मानदेय नहीं था। जब कमलेश गुप्ता जी व शाही जी 6000₹ मांगकर संतुष्ट हुए तो…… धर्मेन्द्र भैया की दुहाई देने वाले अगर मुख्यमंत्री जी से पृथक बजट से मानदेय माँग लेते तो माना जाता कि धर्मेन्द्र भैया का सम्बन्ध काम कर गया। ऐसा क्यों नहीं किया गया।

4- जबकि 12 सालो का इतिहास है कि रमाबाई मैदान में रोजगार सेवकों ने अपनी संख्या व धन बल से महीने भर डटे रहे। देखा जाये तो वेलफेयर का रोजगार सेवकों के पक्ष में परिणाम शून्य रहा आखिर क्यों।

5- उस दौरान महीने भर में रोजगार सेवकों के अथाह रुपये का अपव्यय हुआ वो रोजगार सेवकों का दिल ही जानता है। उस समय रोजगार सेवक तपती धूप☀ में दिन भर धरना करके वही मैदान में ही तपती ईटों पर चद्दर डालकर सो जाता था। बनके नेता अच्छे खासे होटल में रहकर पनीर व मशरूम खाते थे आखिर क्यों।

6- आज दो सालों में 1500₹ प्रत्येक ब्लाकों से भूपेश सिंह जी के द्वारा मांगा गया वो भी आधे ब्लॉक ने एक रूपये भी नहीं दिया। उसके बाद भी भूपेश सिंह जी व उनकी टीम ने अपना धैर्य नहीं खोया सफलता पूर्वक सम्मेलन करवाया और माननीय मंत्री जी, सांसद जी, विधायिका जी, व विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। आश्वासन भी रोजगार सेवकों के पक्ष में दिया। कार्यवृत्य भी सब लिखित में है।ईश्वर की कृपा से परिणाम भी मिलेगा। परंतु आर्थिक सहयोग के नाम पर सबकी बिदक जाती है।
झूठो का बोलबाला और खूब चंदा दिया,और सच्चे को कुछ नही

7- भूपेश सिंह जी व उनकी सक्रिय टीम द्वारा सपा सरकार में 2 वर्ष का बकाया मानदेय बीजेपी सरकार से दिलवाया,कंटीजेंसी के दुरुपयोग पर रोक लगवाई,ईपीएफ, डबटेलिंग का शासनादेश जारी कराया,सम्मेलन के बाद 3000मानव दिवस पर भी ब्रेक लग गया जहाँ पर जिला अध्यक्ष गण एक्टिव है वहा पालन हो रहा है। अब प्रदेश अध्यक्ष व उनकी टीम जिलों में जा जाकर शासनादेश नहीं लागू करायेगी जहाँ समस्या हो अधिकारियों से प्रदेश अध्यक्ष जी की बात कराये।

अनूप कुमार सिंह

प्रदेश शोशल मीडिया प्रभारी
उ.प्र.ग्राम रोजगार सेवक संघ

दोस्तों और अधिक जाने हमारे YouTube चैनल पर चलते हैं

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें
इंटरनेट को फोलो करे

अविनाश श्रीवास्तव हेड ऑफ चीफ

🇮🇳 भारत 🖋ब्यूरो 🎤मीडिया(THE BBM NEWS)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here