लखनऊ ,उत्तर प्रदेश में कार्यरत मीडियाकर्मियों को सुरक्षा कवच व समाचारपत्रों को आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग

0
151

लखनऊ ,उत्तर प्रदेश में कार्यरत मीडियाकर्मियों को सुरक्षा कवच व समाचारपत्रों को आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग Demand for providing security cover to newspapers and financial aid to newspapers working in Lucknow, Uttar Pradesh.

 

लखनऊ ,उत्तर प्रदेश में कार्यरत मीडियाकर्मियों को सुरक्षा कवच व समाचारपत्रों को आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग दिनोंदिन जोर पकड़ती जा रही है।

राष्ट्रीय पत्रकार सुरक्षा संघ के प्रदेश अध्यक्ष अनूप कुमार मिश्रा ने इस संदर्भ में मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ को भेजे गए खुले पत्र मे कहा गया है कि आप अवगत ही हैं कि वर्तमान स्थिति में पत्रकारिता और समाचार पत्र का प्रकाशन करना एक दुष्कर काम है ।

कोरोना महामारी की वजह से समाचार पत्रों के प्रकाशन का लागत मूल्य काफी बढ़ गया है । ट्रांसपोर्टेशन का व्यय पहले ही कहीं अधिक बढ़ गया है । कागज पर जी एस टी लग जाने से भी काफी परेशानी हुई है । केमिकल, प्लेट, स्याही पर भी जीएसटी की काफी दर है ।

कोरोना की वजह से समाचार संकलन में भी अधिक व्यय हो रहा है । पत्रकारों को भी अपने जीवन को खतरे में डालकर समाचार संकलन करना पड़ रहा है । पत्रकार एक अल्प वेतन भोगी कर्मचारी होता है।

ज्यादातर छोटे व मझोले अखबार घाटे में ही किसी प्रकार से चल रहे है । समाचार पत्र में प्रयुक्त होने वाले कागज की कीमत अखबार की कीमत से कहीं अधिक होती है ।

वर्तमान समय में कोरोना की वजह से लॉक डाउन होने के कारण समस्त उद्योग, बाजार, सरकारी कार्यालय बन्द है। इस लिए समाचार पत्रों को विज्ञापन भी नहीं मिल पा रहे है । पूरा एक माह हो रहा है । बिना विज्ञापन के अखबार नहीं छप सकते, यह एक वास्तविक सत्य है ।

सरकार के आदेश है कि सभी को वेतन दिया जाए । समाचार पत्र प्रतिष्ठान किस प्रकार से वेतन आदि की व्यवस्था करें । यह विचारणीय है । समाचार पत्र प्रतिष्ठानों की आर्थिक स्थिति पहले से ही जीएसटी लागू होने की वजह से जर्जर हो चुकी है । रही सही कसर इस कोरोना ने पूरी कर दी है ।
आपसे अनुरोध है कि आप पत्रकारों को बीमा का सुरक्षा कवच देने के साथ ही आर्थिक सहायता प्रदान करने की कृपा करें ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here