या कहानी सच्ची घटना Or story true event

0
8


यह कहानी  सच्ची घटना है आप भी सुनिए
एक दो बड़े झटकों के साथ तेज रफ़्तार बस रुक गयी
सभी यात्री ड्राइवर पर भड़कने लगे
पर जब पसीना पसीना ड्राइवर ने बताया कि
” गाडी के ब्रेक एक किलोमीटर पहले फेल हो गए थे किसी तरह सँभालते हुए यहाँ पर रोकना ठीक लगा और सब बच गए “
सब ड्राइवर की भूरी भूरी प्रशंसा करने लगे
मगर थोड़ी देर में कुछ बुद्धिमान ज्ञानी यात्री ज्ञान देने लगे

एक बोलता है, “अगर यहाँ तक ले आये तो धीरे धीरे घर तक ही ले आता “
दूसरा बोला “मैं तो बाइक निकालने से पहले ब्रेक चेक करता हूँ .”
तीसरा बोला “अब हमारे रहने खाने पीने बिस्तर का बंदोबस्त यह ड्राइवर ही करेगा “
चौथा कहता है “टिकटो कें पैसे का हिसाब दो यहाँ तक कितना लगा ? कितना बचा ?”

और बस का ड्राइवर सोच रहा था ” वैसे ये सब हरामखोर बचाये जाने लायक नहीं है़ मगर मुझे तो अपना फर्ज निभाना ही है मैंने अपना फ़र्ज़ निभाया है “
[09:11, 15/5/2020] भारत ब्यूरो मीडिया: ग्राम बीरपुर कूड़वा‌ हरैया सतघरवा जनपद बलरामपुर चेतराम वर्मा के यहां देर रात में आग लग गया मौके पर पहुंचे वर्तमान संसद शिरोमणि वर्मा जी पहुंचकर जानकारी प्राप्त किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here