सामाजिक कार्यकर्त्ता  एवं पूर्व बिधानसभा प्रत्यासी फाजिलनगर मनोज सिंह ने कॅरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर

0
8

 

सामाजिक कार्यकर्त्ता  एवं पूर्व बिधानसभा प्रत्यासी फाजिलनगर मनोज सिंह ने कॅरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं निरस्त करने का मांग किया

विश्वविद्यालयो द्वारा 7 जुलाई से परीक्षा की तारीख घोषित किए जाने के बाद से छात्रों में आक्रोश है। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए सामाजिक कार्यकर्ता मनोज सिंह ने विश्वविद्यालय की परीक्षा न कराए जाने व इस सत्र प्रमोट किए जाने की मांग करते हुए कहा कि वर्तमान समय मे जहां प्रतिदिन देश मे 12 हजार से ऊपर कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हो वहा विश्वविद्यालयो द्वारा परीक्षा कराना कदापि उचित नही है। एक तरफ प्रशासन दोपहिया वाहनों पर दो लोगो के बैठने पर इस आशय से चालान काट रही है कि इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है और दूसरी तरफ महाविद्यालयो में परीक्षा कराने का निर्णय लेना कही से नीतिसंगत नही लगता। जहां हजारों की संख्या में छात्र पहुचेंगे वहां सोसल डिस्टेंसिंग का पालन कैसे होगा।
बता दें कि विश्वविद्यालय ने बीते सप्ताह वार्षिक परीक्षा कार्यक्रम जारी किया था। इसके तहत 7 जुलाई से विश्व विद्यालय की वार्षिक परीक्षाएं होनी है। इसे लेकर विश्वविद्यालय व संबंध महाविद्यालयों के छात्र छात्राओं ने अलग-अलग माध्यम से शिकायत करते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन से परीक्षा निरस्त कराए जाने की मांग करनी शुरू कर दी। इस मुद्दे को प्रमुखता से उठते हुए मनोज सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय की परीक्षा देने अलग-अलग जनपदों से छात्रों को आना पड़ेगा जो स्वस्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षित नही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here